Sewayojan UP(सेवायोजन उत्तर प्रदेश) - Slunečnice.cz

 Sewayojan UP(सेवायोजन उत्तर प्रदेश) 1.1

Pro hodnocení programu se prosím nejprve přihlaste

Staženo 0 ×
Zdarma

Sdílet

इस योजना का उद्देश्य करियर काउंसलिंग शिविरों का आयोजन कर बेरोजगारों को शिक्षण,प्रशिक्षण एवं रोजगार के अवसरों के अनुरूप विषय चयन में सहायता करना तथा रोजगार बाजार में उपलब्ध अवसरों के जानकारी प्रदान करना है. सेवायोजन विभाग में व्यवसाय मार्गदर्शन कार्यक्रम के अन्तर्गत छात्रों एवं बेरोजगारों को उपयुक्त आजीविका के चयन हेतु मार्गदर्शन प्रदान किये जाने का कार्य भारत सरकार के राष्ट्रीय रोजगार सेवा मैनुवल में की गयी व्यवस्था के अनुसार किया जाता है. इस योजना के अन्तर्गत अभ्यर्थियों की शैक्षिक उपलब्धियों‚ रूचि–अभिरूचि‚ पारिवारिक और आर्थिक पृष्ठभूमि और व्यवसाय जगत की परिवर्तनशील गतिविधियों के आधार पर व्यवसायिक मार्गदर्शन और मंत्रणा प्रदान की जाती है। इस कार्यक्रम के सम्यक् संचालन हेतु सेवायोजन कार्यालयों को शैक्षिक संस्थानों से सघन सम्पर्क स्थापित करना होता है।

उक्त उद्देश्यों की पूर्ति हेतु वर्ष 2006–07 में निदेशालय स्तर पर कॅरियर काउन्सिलिंग सेल की स्थापना की गयी‚ जिसका मुख्य उद्देश्य करियर काउन्सिलिंग हेतु क्षेत्र के कार्यालयों के लिए लक्ष्यों का निर्धारण और उन्हें समय–समय पर मार्गदर्शन देना है। वर्ष 2008 में व्यवसाय मार्गदर्शन कार्यक्रम को अधिक गतिशील बनाने की दिशा में 'अभिनव प्रयास एवं नूतन दिशायें' कार्यक्रम के अन्तर्गत विभिन्न प्रकार के सघन एवं समन्वित कार्यक्रमों को आयोजित किए जाने की व्यवस्था सुनिश्चित की गयी तथा इस कार्यक्रम का नाम “करियर काउन्सिलिंग” कर दिया गया। वर्ष 2008–09 में 'अवसर' नामोदिष्ट कार्यक्रम के अन्तर्गत विभिन्न क्षेत्रीय एवं जिला सेवायोजन कार्यालयों के अतिरिक्त विश्वविद्या्लय सेवायोजन सूचना एवं मंत्रणा केन्द्रों द्वारा लक्ष्यानुरूप कार्यशालाएँ आयोजित की गयी। इस प्रकार प्रत्येक वर्ष करियर काउन्सिलिंग शिविरों का आयोजन किया जा रहा है. इस प्रकार प्रत्येक वर्ष करियर काउन्सिलिंग शिविरों का आयोजन किया जा रहा है.

• अवसर दिवस – प्रत्येक वर्ष 06 जनवरी को.
• समाधान अवसर – 15 अप्रैल से 31 जुलाई के मध्य
• अपना व्यवसाय चुनिए पखवाडा – 15 अगस्त से 31 अगस्त के मध्य
• करियर काउन्सिलिंग (सेमीनार⁄ कार्यशाला) – सितम्बर से दिसम्बर तक

प्रदेश के सेवायोजन कार्यालयों द्वारा निजी क्षेत्र में भी बेरोजगार अभ्यर्थियों को रोजगार के अवसर उपलब्ध करने के प्रयास किये जा रहे हैं .
रोजगार मेलें में प्रतिभाग करने हेतु सर्वप्रथम जॉब सीकर को सेवायोजन पोर्टल पर अपना पंजीकरण कराना आवश्यक है. बेरोजगार अभ्यर्थियों के समान ही नियोजकों के भी उक्त पोर्टल पर पंजीकरण की व्यवस्था की गयी है .पंजीकरण के उपरांत नियोजक अपने संस्थान की रिक्तियों को सेवायोजन पोर्टल पर अपलोड कर सकते है. उक्त अधिसूचित रिक्तियों के सापेक्ष जिन बेरोजगार अभ्यर्थियों की प्रोफाइल मैच करती है उनको सिस्टम जनरेटेड मेल प्रेषित हो जाएगी कि आपकी शैक्षिक योग्यता ,कौशल एवं अनुभव के अनुरूप रिक्तियां पोर्टल पर अपलोड की गयी है. अत: आप “प्रथम आओ प्रथम पाओ” के आधार पर निर्धारित संख्या तक आवेदन कर सकते है.ऐसे आवेदित अभ्यर्थियों की सूची नियोजक एवं एडमिन पैनल पर प्रदर्शित करने की व्यवस्था भी पोर्टल पर की गयी है. नियोजक द्वारा उक्त सूची के आधार पर अपनी आवश्यकतानुसार अभ्यर्थियों को सॉर्ट लिस्ट किया जा सकेगा. ऐसे सॉर्ट लिस्टेड अभ्यर्थियों को सम्बंधित सेवायोजन अधिकारी द्वारा ई-मेल के माध्यम से रोजगार मेलों में प्रतिभाग करने हेतु आमंत्रित किये जाने की व्यवस्था की गयी है. रोजगार मेलों का आयोजन सम्बंधित जनपद स्तरीय समिति द्वारा सम्पादित किया जायेगा. चयन के उपरांत नियोजक चयनित अभ्यर्थियों की सूची सम्बंधित सेवायोजन अधिकारी को उपलब्ध करायेंगें जिसको उनके द्वारा उक्त पोर्टल पर अपलोड कर दिया जायेगा.

3.शिक्षण एवं मार्गदर्शन केंद्र :
प्रदेश के 52 जनपदों में स्थापित शिक्षण एवं मार्गदर्शन केन्द्रों का मुख्य उद्देश्य समाज के निर्बल वर्ग यथा अनुसूचित जाति/जनजाति एवं अन्य पिछड़ा वर्ग के अभ्यर्थियों भाषा,सचिवीय पद्यति, कंप्यूटर ,आशुलिपि एवं सामान्य ज्ञान में प्रशिक्षण प्रदान कर उनकी सेवायोजकता में वृद्धि करना है.

4.माडल करियर सेन्टर :
महानिदेशक, रोजगार एवं प्रशिक्षण ,भारत सरकार, नई दिल्ली के निर्देशों के क्रम में निदेशालय में कार्यरत करियर काउंसलिंग सेल तथा जिला सेवायोजन कार्यालय ,गाजियाबाद को माडल करियर सेन्टर के रूप में विकसित किये जाने का प्रस्ताव भारत सरकार द्वारा स्वीकार किया जा चुका है.

Pro hodnocení programu se prosím nejprve přihlaste

Staženo
0 ×

TIP: Stahují se vám programy pomalu? Změřte si rychlost svého internetového připojení.